Sat. Sep 25th, 2021

Express News Live

ज़िद !! सच दिखने की

Paralympic चैंपियन खिलाड़ियों से PM का संवाद, जानें रिकॉर्ड मेडल मिलने पर क्या बोले प्रधानमंत्री..

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने आज (रविवार को) पैरालंपिक 2020 (Paralympic 2020) के चैंपियन भारतीय खिलाड़ियों से मुलाकात की. भारत ने इस बार पैरालंपिक में 19 मेडल जीते हैं. जिसमें 5 गोल्ड मेडल, 8 सिल्वर मेडल और 6 ब्रॉन्ज मेडल हैं.

चैंपियन खिलाड़ियों से प्रधानमंत्री की मुलाकात

प्रधानमंत्री मोदी ने पैरालंपिक खिलाड़ी से पूछा कि जब आप जब जीत गईं तो उसके बाद आपका परिवार कितना खुश हुआ था? इस खिलाड़ी ने बताया कि मेरी मां बहुत खुश है. उनको लोग पहचानने लगे हैं. उन्हें मुझपर गर्व है.

पैरालंपिक खिलाड़ी ने पीएम से किया ये वादा

एक पैरालंपिक खिलाड़ी ने पीएम मोदी से कहा कि मेरा ये पहला पैरालंपिक था. मैं अगली बार मेडल लेकर जरूर लाऊंगा. अन्य देशों के खिलाड़ी मुझसे कहते हैं कि उनके प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति उनसे सीधे बात नहीं करते हैं लेकिन आप कर रहे हैं. इससे हम बहुत खुश हैं.

गौरतलब है कि एक पैरालंपिक खिलाड़ी ने पीएम मोदी से कहा कि सर आपकी स्टोरी भी हम पैरालंपिक खिलाड़ियों जैसी ही हैं. बहुत मोटिवेशनल स्टोरी है. हमें इससे प्रेरणा मिलती है.

मेडल नहीं मिलने पर नहीं हों दुखी- पीएम

पीएम मोदी ने कहा कि जिन खिलाड़ियों को मेडल नहीं मिला वो दुखी नहीं हों. ये दिमाग से निकाल दीजिए. आगे की तैयारी करें. आप वहां पहुंचे यही बहुत बड़ी बात है.

उन्होंने कहा कि आप लोगों की मेहनत से परिवार और समाज में परिवर्तन होगा. जिन बच्चों की खेल में रुचि होगी, उन्हें उनके माता-पिता अब खेल की तरफ जाने के लिए खुद प्रोत्साहित करेंगे.

दिव्यांग खिलाड़ियों पर पीएम ने क्या कहा?

पीएम मोदी ने कहा कि दिव्यांगजनों की कोचिंग करना ज्यादा मुश्किल है क्योंकि कोच को उनकी शारीरिक क्षमता ही नहीं बल्कि उनकी मानसिक शक्ति को भी समझना पड़ता है. इसके लिए वर्कशॉप होनी चाहिए. एक पैरालंपिक खिलाड़ी शरद ने पीएम मोदी से कहा कि मैं अब आगे का गेम पूरे पैशन से खेलूंगा. जैसा कि आपने कहा टेंशन नहीं लेनी है.

बता दें कि एक पैरालंपिक खिलाड़ी ने प्रधानमंत्री मोदी से पूछा कि आप भी जब देश को किसी इंवेट में प्रतिनिधि के रूप में रिप्रेजेंट करते हैं तो क्या आप कभी नर्वस होते हैं? इसपर पीएम मोदी ने कहा कि मेरा बैकग्राउंड आप जैसे ही एक सामान्य परिवार से है. बचपन में प्रिंसिपल भी नाम पुकारते थे तो लगता था कि प्रिंसिपल मुझे जानते हैं. जब मैं सार्वजनिक जीवन में आया तो मैंने ये सब भुला दिया. मैं दुनिया के किसी भी लीडर से मिलता हूं तो मुझे लगता है कि मैं नहीं मिल रहा बल्कि 130 करोड़ देशवासी मिल रहे हैं.

एक अन्य पैरालंपिक खिलाड़ी ने पीएम मोदी से पूछा कि आपको इतना सबकुछ याद कैसे रहता है? इसपर प्रधानमंत्री ने कहा कि जब आप किसी चीज में इनवॉल्व हो जाते हैं तो आपको याद नहीं करना पड़ता है. जब अपनापन हो जाता है तो याद करने की जरूरत नहीं होती है.

Share
Now