Tue. May 11th, 2021

Express News Live

ज़िद !! सच दिखने की

मौत का कहर: शवों के लिए अब एंबुलेंस की कमी- 22 कोरोना मरीजों का शव एक एंबुलेंस में देख लोगों के निकले आंसू…

महाराष्ट्र में कोरोना की रफ्तार बेलगाम हो चुकी है और हर रोज मौत के नए रिकॉर्ड बन रहे हैं. हालात ये हैं कि शवों को ले जाने के लिए अब एंबुलेंस भी नहीं है. एक ही एंबुलेंस में करीब दो दर्जन शवों को लादकर कब्रिस्तान या श्मशान पहुंचाया जा रहा है. दिल दहलाने वाली एक ऐसी ही तस्वीर महाराष्ट्र के बीड से सामने आई है.

बीड जिले के अंबाजोगाई में स्वामी रामानंद तीर्थ अस्पताल में कोरोना से मरने वाले 22 मरीजों के शव रविवार को एक ही एम्बुलेंस में लादकर कब्रिस्तान में ले जाया गया. अस्पताल की दलील है कि उसके पास एंबुलेंस नहीं है. वहीं, इस अमानवीय तस्वीर के सामने आने के बाद लोगों में गुस्सा है

.

बता दें कि बीड जिले में कोरोना मरीजों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. अंबजोगाई तालुका में स्थिति गंभीर है. इस वजह से यहां के स्वाराती अस्पताल पर भारी दबाव है. साथ ही पड़ोसी तालुकों के रोगियों को स्वाराती अस्पताल और लोखंडी सावरगाव कोविड केंद्र में भर्ती कराया जा रहा है. मरीजों की बढ़ती संख्या के साथ मौत का आंकड़ा बढ़ गया है.

मौत के बढ़ते आंकड़े के साथ ही अस्पताल प्रशासन के कुप्रबंधन की कलई भी खुल गई है. 25 अप्रैल को एक ही एम्बुलेंस में 22 मरीजों के शव को कब्रिस्तान में ले जाया गया था. जिस तरह से मरीजों के शवों को अंतिम संस्कार के लिए ले जाया गया, वह बेहद चौंकाने वाला है.

लोगों में प्रशासन के खिलाफ गुस्सा है.अस्पताल प्रशासन के मुताबिक, अस्पताल में सिर्फ दो एंबुलेंस है, महामारी के चलते पांच अतिरिक्त एंबुलेंस की मांग की गई है, 17 मार्च 2021 को अतिरिक्त एम्बुलेंस के लिए जिला प्रशासन को लिखा है, लेकिन अभी तक कोई भी एम्बुलेंस प्राप्त नहीं हुई है, एम्बुलेंस की कमी के कारण लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है

Share
Now