Sat. Mar 6th, 2021

Express News Live

ज़िद !! सच दिखने की

किसानों का बड़ा ऐलान- ट्रैक्टर परेड के बाद अब 1 फरवरी को करेंगे संसद की ओर…

नेशनल डेस्क: गणतंत्र दिवस पर राजधानी दिल्ली में ट्रैक्टर परेड निकालने की जिद पर अड़े किसान संगठनों और पुलिस के बीच सहमति आखिर बन गई जिसके बाद 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड निकाल सकेंगे। वहीं आज क्रांतिकारी किसान यूनियन के नेता दर्शन पाल सिंह ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि वो एक फरवरी को दिल्ली की अलग-अलग सीमाओं से संसद की ओर पैदल मार्च करेंगे। क्रांतिकारी किसान यूनियन के नेता दर्शन पाल ने कहा कि किसान ट्रैक्टर परेड के बाद अगला कार्यक्रम ये ही होगा।

इसी दिन ही केंद्र सरकार अपना बजट पेश करेगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली के आउटर रिंग रोड पर हम शांतिपूर्ण तरीके से ट्रैक्टर रैली करेंगे और रैली करने के बाद हम अपने स्थान पर वापस आ जाएंगे। हमारा आंदोलन 26 जनवरी के बाद भी चलेगा।

ट्रैक्टर परेड को मिली मंजूरी
इससे पहले हरियाणा, दिल्ली और उत्तर प्रदेश की पुलिस से कई दौर की बातचीत के बाद आखिरकार किसानों को 26 जनवरी यानि की कल को दिल्ली में ट्रैक्टर परेड की मंजूरी मिल गई। किसान संयुक्त मोर्चा की आज देर शाम को आयोजित बैठक में इस बात की जानकारी दी गई। किसानों ने दावा किया है कि विश्व पटल पर ऐसी परेड न तो किसी ने निकाली होगी और न ही देखी होगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश पुलिस ने भी हर स्तर पर मदद का भरोसा दिया है ताकि किसी तरह की परेशानी ना हो। समय और स्थान को लेकर किसान नेताओं ने कहा कि जब तक प्रत्येक ट्रैक्टर परेड रूट से होकर वापस अपने धरने तक नहीं लौट आता है, तब तक परेड चलेगी। यह 24 घंटे से 72 घंटे तक भी हो सकती है।

किसान नेताओं की अपील
किसान नेताओं ने गणतंत्र दिवस ट्रैक्टर परेड में शामिल होने वाले लोगों से 24 घंटे के लिए राशन उपलब्ध रखने के साथ ही परेड के दौरान शांति बनाए रखने की रविवार को अपील की। एक किसान नेता ने कहा, ” किसी के पास भी कोई हथियार या शराब नहीं होनी चाहिए। भड़काऊ संदेश वाले बैनर की अनुमति नहीं दी जाएगी।” उन्होंने कहा, ” परेड शुरू करने के लिए तीन स्थान तय किए गए हैं जिनमें सिंघू, टीकरी एवं गाजीपुर बॉर्डर शामिल हैं।” परेड के दौरान किसान नेता अपनी कार में सबसे आगे चलेंगे। किसान नेताओं ने कहा कि प्रत्येक ट्रैक्टर पर तिरंगा झंडा लगा रहेगा और इस दौरान लोक संगीत एवं देशभक्ति गीत बजेंगे। प्रत्येक ट्रैक्टर पर केवल पांच लोगों के सवार होने की अनुमति रहेगी। एक किसान नेता ने कहा, ” ठंड को देखते हुए सभी अपनी जैकेट एवं कंबल आदि साथ रखें और सभी को अपनी परेड की शुरुआत के स्थान पर वापस आना है।”

Share
Now