January 21, 2022

Express News Bharat

ज़िद !! सच दिखने की

ENB JOIN US

UP: मरकज निजामुद्दीन को किया गया बदनाम बीएसपी सांसद …..

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर लोकसभा सांसद हाजी फजलुर्रहमान ने संसद के शीतकालीन सत्र में कोरोना महामारी पर चर्चा में भाग लेते हुए तबलीगी जमात और निजामुद्दीन मरकज को कोरोना के लिए बदनाम किए जाने की निंदा की. सांसद हाजी फजलुर्रहमान ने कहा कि कोरोना महामारी से पूरी दुनिया प्रभावित हुई और हमारा देश भी से प्रभावित हुआ है.

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर लोकसभा सांसद हाजी फजलुर्रहमान ने संसद के शीतकालीन सत्र में कोरोना महामारी पर चर्चा में भाग लेते हुए तबलीगी जमात और निजामुद्दीन मरकज को कोरोना के लिए बदनाम किए जाने की निंदा की. सांसद हाजी फजलुर्रहमान ने कहा कि कोरोना महामारी से पूरी दुनिया प्रभावित हुई और हमारा देश भी से प्रभावित हुआ है. अब हम कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट पर सदन में चर्चा कर रहे हैं. पिछली दोनों लहरों के दौरान हुई गलतियों से सबक लेते हुए हमें अब लोगों के स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए अधिक प्रबंध करने होंगे.

‘कोरोना को एक खास वर्ग से जोड़ने की कोशिश हुई’

सांसद हाजी फजलुर्रहमान ने कहा कि कोरोना की पहली लहर में हमारा जान और माल का नुकसान कम हुआ लेकिन अनजाने में डर और दहशत का माहौल बना दिया गया. पहली लहर में 1 दिन तक कर्फ्यू लगाकर उसे लगभग 50 दिन से ज्यादा बढ़ा दिया गया, जिससे लोगों में डर और दहशत पैदा हुई. सांसद हाजी फजलुर्रहमान ने कहा कि देश में मीडिया के एक समूह ने और नफरत फैलाने वालों ने कोरोना की बीमारी को एक खास वर्ग से जोड़ने की कोशिश भी की. इसमें मीडिया का रोल भी बहुत खराब है जिसकी निंदा हमारी कोर्ट ने भी की है. सांसद हाजी फजलुर्रहमान ने कहा कि दिल्ली में तबलीगी जमात के मरकज निजामुद्दीन और तबलीगी जमात को साज़िश के तहत कोरोना महामारी के लिए जिम्मेदार ठहराया गया. मीडिया के जिस समूह ने और जिन लोगों ने ये साजिश की वह गलत साबित हुए.

‘तबलीगी और मरकज निजामुद्दीन को किया गया बदनाम’

उन्होंने कहा कि हमारी सुप्रीम कोर्ट और अलग अलग प्रदेशों की हाईकोर्ट ने भी तबलीगी जमात और मरकज निजामुद्दीन को बदनाम किए जाने की निंदा की है. वहीं कोरोना की दूसरी लहर का सामना करने के लिए केंद्र सरकार तैयार नहीं थी, यही वजह रही कि ऑक्सीजन की कमी से लोगों की मौतें हुई हैं. सरकार का ये बयान कि ऑक्सीजन की कमी से कोई मौत नहीं हुई है निंदनीय है. 

‘ऑक्सीजन की कमी से मरने वालों के परिवार को मिले मुआवजा’

फजलुर्रहमान ने कहा कि सरकार कोरोना से और इस दौरान ऑक्सीजन की कमी से मरने वाले लोगों की सही जानकारी इकट्ठा करे और पीड़ितों के परिवार को मुआवज़ा दे. इसके साथ कोरोना से बचाव के लिए टीके का आंकड़ा संख्या में न बताकर आबादी के प्रतिशत के हिसाब से जारी किया जाए. सांसद हाजी फजलुर्रहमान ने कोरोना महामारी के दौरान लोगों की सेवा करने वाले मेडिकल स्टाफ, डॉक्टर्स, सफाई कर्मचारियों, पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों के लोगों का भी शुक्रिया अदा किया. साथ ही कहा कि कोरोना के दौरान जिन अस्पतालों ने लोगों की मजबूरी का लाभ उठाकर अधिक पैसे वसूले हैं उन पर भी कार्यवाही की जाए और आगे उनके लिए मापदंड तय किए जाएं.

Share
Now