Mon. Apr 19th, 2021

Express News Live

ज़िद !! सच दिखने की

राफेल डील पर सनसनीखेज दावा- जानिए कितने करोड़ की हुई दलाली ?कांग्रेस फिर से हमलावर….

  • भारत और फ्रांस के बीच हुए राफेल फाइटर प्‍लेन डील को लेकर एक बार फिर कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता रणदीप सुरजेवाला ने मोदी सरकार पर हमला किया है।
  • कांग्रेस ने ये हमला फ्रांस के पब्लिकेशन मीडिया पार्ट में छपी रिपोर्ट के दावे को संज्ञान में लेते हुए किया है।
  • इस रिपोर्ट में लिखा है कि 2016 में भारत और फ्रांस के बीच राफेल डील हुई थी।
  • उस समय फ्रांस की दसॉ एविएशन ने इस डील के लिए भारत में एक मीडिएटर को 1.1 मिलियम यूरो दिए थे।
  • इस खुलासे को लेकर अब कांग्रेस ने भाजपा सरकार से कई सवाल पूछे हैं।

नई दिल्ली।

एक फ्रेंच पत्रिका में राफेल डील को लेकर प्रकाशित रिपोर्ट के बाद कांग्रेस पार्टी एक बार फिर मोदी सरकार पर हमलावर हो गई है। इस रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस डील में एक भारतीय मध्यस्थ को 11 लाख यूरो (करीब 9.48 करोड़ रुपए) की दलाली दी गई। विमानों की ऊंची कीमतों को लेकर पहले ही सरकार को घेरती आ रही कांग्रेस पार्टी ने मोदी सरकार से कई सवाल दागे हैं। विपक्षी पार्टी ने रिश्वत पाने वाले का नाम पूछते हुए निष्पक्ष जांच और कार्रवाई की मांग की है।

मीडियापार्ट में तीन सीरीज वाली रिपोर्ट के पहले हिस्से के प्रकाशन का हवाला देते हुए कांग्रेस पार्टी के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पूछा, ”क्या डसॉल्ट की ओर से दिखाया गया 11 लाख यूरो का क्लाइंट को गिफ्ट वास्तव में मध्यस्थ को दी गई दलाली है। दो सरकारों के बीच हुई डील में या भारत में किसी भी रक्षा खरीद में अनिवार्य रक्षा प्रक्रिया का उल्लंघन करते हुए मध्यस्थ और कमीशन की मंजूरी की अनुमति कैसे दी जा सकती है?” 

यह कहते हुए कि ताजा मीडिया रिपोर्ट ने राफेल डील को दूषित कर दिया है, सुरजेवाला ने पूछा क्या यह डसॉल्ट पर भारी आर्थिक जुर्माना, कंपनी को बैन करने, एफआईआर दर्ज करने और दूसरे दंडीय कार्रवाई नहीं होनी चाहिए? सुरजेवाला ने आगे पूछा, ”क्या भारत के सबसे बड़े रक्षा सौदे में पूर्ण और निष्पक्ष जांच की आवश्यकता नहीं है ताकि पता लगाया जा सके कि वास्तव में कितनी रिश्वत और दलाली दी गई और यदि दी गई तो भारत सरकार में किसे? कांग्रेस पार्टी ने यह भी पूछा है कि क्या प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस पर देश को जवाब देंगे

Share
Now