July 7, 2022

Express News Bharat

ज़िद !! सच दिखने की

ENB Click to Join us!

ज्ञानवापी मुस्लिम पक्ष के वकील का दावा कि वजू खाने के फुव्वारे को शिवलिंग बताकर भ्रमित किया जा रहा है…..

ज्ञानवापी मस्जिद में तीसरे दिन का सर्वे खत्म हो गया है। अब रिपोर्ट कोर्ट में पेश की जानी है। इससे पहलेे हिंदू पक्ष ने दावा किया है कि तालाब में शिवलिंग पाई गई है। मुस्लिम पक्ष के वकील ने दावा नकारा।

वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद में तीन दिन तक सर्वे चला। हिंदू पक्ष के वकील ने दावा किया है कि मस्जिद के अंदर एक तालाब में शिवलिंग मिला है। यूपी की एक अदालत ने उस तालाब को सील करने का आदेश दे दिया है। अब अंजुमन इंतेजामियया मस्जिद कमिटी के वकील ने कहा है कि ‘शिवलिंग’ पाए जाने का दावा करने वाले पक्षकार केवल गुमराह कर रहे हैं। उन्होंने कहा है कि वजूखाना में कोई शिवलिंग नहीं पाया गया है।

वकील रईस अहमद अंसारी ने कहा, ‘ज्ञानवापी मसंजिद के वजूखाना में केवल एक फव्वारा है। जिस संरचना को शिवलिंग बताया जा रहा है वह फव्वारा है। ये सभी दावे झूठे हैं।’ जानकारी के मुताबिक मस्जिद के ऊपरी हिस्से में नमाज पढ़ी जाती है। वहीं वजू करने की जगह है। इसी तालाब में शिवलिंग मिलने की बात कही गई है। कोर्ट ने इस इलाके को सील करने का और कड़ा पहरा लगाने का आदेश दिया है। इसके अलावा यहां किसी के भी आने जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

रईस ने कहा, ‘कोर्ट ने जल्दबाजी में आदेश दे दिया। हम इस आदेश से संतुष्ट नहीं हैं और इसे चुनौती देंगे।’ इलाहाबाद हाई कोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में मसस्जिद कमिटी ने आपील की है। जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली बेंच मंगलवार को इस याचिका की सुनवाई करेगी। इलाहाबाद हाई कोर्ट ने कोर्ट द्वारा नियुक्त कमिश्नर को ज्ञानवापी में सर्वे करने का आदेश दिया था।

12 फीट 8 इंच के शिवलिंग का दावा
हिंदू पक्ष के वकील मदन मोहन ने दावा किया था कि गुंबद के पास स्थित तालाब का पूरा पानी निकाला गया। यहां नंदीजी के सामने 12 फीट 8 इंच का शिवलिंग पाया गया है। वादी महिला लक्ष्मी देवी के पति सर्वे टीम में शामिल हैं। टीम में शामिल सदस्य सोहनलाल आचार्य ने कहा कि आज बाबा मिल गए। जिसकी नंदी प्रतीक्षा कर रहे थे, वह बाबा मिल गए। उन्होंने कहा कि अब हम पश्चिमी दीवार के मलबे की जांच की मांग करेंगे।

Share
Now