August 11, 2022

Express News Bharat

ज़िद !! सच दिखने की

ENB

मोमबत्ती की रोशनी में स्टाफ नर्स ने कराया प्रसव, नवजात की हुई मौत, परिजनों ने किया…..

सुल्तानपुर के एक सीएचसी में स्टाफ नर्स ने मोमबत्ती की रोशनी में महिला का प्रसव करवाया। अस्पताल में जनरेटर की व्यवस्था होने पर भी इसे नहीं चलाया गया। अधिक गर्मी के कारण बच्चे की मौत हो गई जिस पर जमकर बवाल हुआ।

सीएचसी में भर्ती गर्भवती महिला को प्रसव पीड़ा उठने पर स्टाफ नर्स ने मोमबत्ती की रोशनी में प्रसव कराया। इस बीच गर्मी के साथ ही नवजात को बेहतर चिकित्सीय सेवा नहीं मिलने से उसकी मौत हो गई। नवजात की मौत से नाराज परिजनों ने सीएचसी पर जमकर हंगामा काटा। नवजात की मौत से नाराज पिता ने स्वास्थ्य विभाग के टोल फ्री नंबर पर घटना की शिकायत दर्ज कराई है। स्वास्थ्य विभाग के आलाधिकारी मामले से अनभिज्ञता जता रहे हैं।

कोतवाली देहात थाना क्षेत्र के अभियाकलां निवासी अजय कुमार मौर्या की पत्नी सीतांजलि गर्भवती थीं। शुक्रवार की रात करीब साढ़े नौ बजे प्रसव पीड़ा होने पर परिजन सीतांजलि को लेकर सीएचसी भदैंया पहुंचे। रात करीब दस बजे बिजली चली गई और पूरे अस्पताल में अंधेरा छा गया। इसी बीच रात करीब साढ़े ग्यारह बजे सीतांजलि की प्रसव पीड़ा बढ़ गई। तब ड्यूटी पर तैनात स्टाफ नर्स ललिता ने मोमबत्ती जलाकर सीतांजलि का प्रसव कराया।

प्रसव में सीतांजलि को कन्या हुई लेकिन जन्म के दस मिनट बाद ही अचानक उसकी तबीयत बिगड़ने लगी। तब स्टाफ नर्स ललिता को इसकी जानकारी दी गई। स्टाफ नर्स ने मौके पर पहुंचकर इसकी सूचना ड्यूटी पर तैनात नेत्र चिकित्सक विनय कुमार वर्मा को दी। इस बीच नवजात की तबीयत ज्यादा बिगड़ गई। नवजात की हालत ज्यादा खराब होने पर चिकित्सक ने उसे जिला अस्पताल रेफर कर दिया। परिजन नवजात को जिला अस्पताल ले जाने की तैयारी में जुटे थे कि उसकी मौत हो गई।

नवजात की मौत होने पर परिजनों ने सीएचसी पर जमकर हंगामा काटा। अजय कुमार मौर्या ने घटना की शिकायत स्वास्थ्य विभाग के टोल फ्री नंबर पर दर्ज कराते हुए कार्रवाई की मांग की है। नवजात की मौत होने के बाद परिजन रात में ही सीतांजलि को डिस्चार्ज कराकर घर लेकर चले गए।

जनरेटर होने के बाद भी नहीं होता चालू
सीएचसी भदैंया में जनरेटर है। यह जनरेटर यदा-कदा मंत्री के दौरे या विशेष आयोजन पर ही चलाया जाता है। शुक्रवार की रात में भी बिजली कटौती होने पर सीएचसी में जनरेटर नहीं चलाया गया। शनिवार को भी बिजली कटौती होने पर जनरेटर नहीं चला। सीएचसी में लगे इन्वर्टर से केवल चिकित्सकों के कक्ष में ही लाइट की व्यवस्था की गई है।

स्टाफ नर्स ने कहा, नहीं चलता जनरेटर
अजय कुमार मौर्य ने बताया कि शुक्रवार की रात जब स्टाफ नर्स उनकी पत्नी को प्रसव कराने के लिए ले जा रही थी। तब अंधेरा था। अजय ने स्टाफ नर्स से जनरेटर चालू कराने की बात कही। इस पर स्टाफ नर्स ने बताया कि जनरेटर नहीं चलता है।

Share
Now