September 26, 2022

Express News Bharat

ज़िद !! सच दिखने की

ENB

यूपी और एनसीआर में बारिश से हाहाकार 20 से ज्यादा लोगों की मौत! आज भी अलर्ट ….

दिल्ली-एनसीआर में दो दिन से हो रही बारिश से हाहाकार मच गया है। गुरुग्राम जिला प्रशासन ने जिले में 23 सितंबर को भारी बारिश की आशंका के मद्देनजर सभी कॉर्पोरेट ऑफिसों और निजी संस्थानों के कर्मचारियों को घर से काम (वर्क फ्रॉम होम) करने और निजी शिक्षण संस्थानों में अवकाश की सलाह दी गई है। वहीं, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में भी मौसम विभाग के दिनांक 23 सितंबर को भारी बारिश के अलर्ट को देखते हुए डीएम ने कक्षा एक से कक्षा 8 तक के सभी स्कूलों को बंद रखने के निर्देश दिए हैं।

जानकारी के अनुसार, गुरुवार को हुई भारी बारिश के बाद शुक्रवार 23 सितंबर को भी भारी बारिश के पूर्व अनुमान को देखते हुए गुरुग्राम जिला प्रशासन ने सभी कॉरपोरेट ऑफिसों और निजी संस्थानों के लिए एडवाइजरी जारी की है कि वे अपने यहां कार्यरत कर्मचारियों को शुक्रवार को घर से काम करने की अनुमति दें ताकि बारिश की वजह से लगने वाले ट्रैफिक जाम से बचा जा सके और सड़क व ड्रेन बनाने वाली एजेंसियां उनकी मरम्मत और रखरखाव का कार्य आसानी से कर सकें।

इसके साथ ही जिले में स्थित सभी निजी शिक्षण संस्थानों को भी सलाह दी गई है कि वे 23 सितंबर को जनहित में अपने स्कूल अथवा कॉलेज में अवकाश घोषित करें।

वहीं, दूसरी ओर मौसम विभाग के दिनांक 23 सितंबर को भारी बारिश के अलर्ट को दृष्टिगत रखते हुए गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने जिले में कक्षा एक से कक्षा 8 तक के सभी स्कूलों शुक्रवार को बंद रखने के निर्देश दिए हैं। जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. धर्मवीर सिंह की ओर से दी जानकारी दी गई है। उन्होंने बताया कि जनपद में 23 सितंबर को कक्षा एक से कक्षा 8 तक के समस्त बोर्ड के विद्यालय बंद रहेंगे।

बारिश के कारण गुरुग्राम में जलभराव, गाड़ियों की रफ्तार सुस्त

बता दें कि, हरियाणा के गुरुग्राम में भारी बारिश के बाद कई हिस्सों में पानी भर गया जिससे सड़कों पर जाम लग गया। देर रात तक पुलिसकर्मी जाम खुलवाने के लिए मशक्कत करते दिखे। गुरुग्राम पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्विटर पेज पर कहा, “गुरुग्राम में लगातार हो रही भारी बारिश की वजह से कुछ जगहों पर जलभराव है तथा यातायात धीमी गति से चल रहा है। अतः आप सभी से हमारा अनुरोध है कि वे आवश्यक कार्य होने पर ही घर से बाहर निकले। असुविधा के लिए खेद है।”

Share
Now