January 20, 2022

Express News Bharat

ज़िद !! सच दिखने की

ENB JOIN US

हरियाणा में JJP नेता पर रेप का आरोप,एमएलए हॉस्टल में किय दुष्कर्म,मुकदमा दर्ज…..

महिला ने बताया कि साल 2017 में जब वह बीमार थी तो रमेश गोदारा ने कालका के एक होम्योपैथी चिकित्सक के पास इलाज करवाने के बहाने उसको चंडीगढ़ बुलाया. जब वह चंडीगढ़ गई तो रमेश उसको एमएलएम हॉस्टल में ले गया और कहा, ‘अब शाम हो गई है. सुबह डॉक्टर के पास चलेंगे. इसके बाद खाना खाया तो हल्की-हल्की नींद आने लगी और वह लेट गई. इसके बाद आरोपी ने उसके साथ दुष्कर्म किया.’ 

हरियाणा के हिसार की महिला थाना पुलिस ने एक महिला की शिकायत के आधार पर जननायक जनता पार्टी (JJP) के हिसार जिलाध्यक्ष रमेश गोदारा के खिलाफ  दुष्कर्म करने का मुकदमा दर्ज किया है. पुलिस ने जांच के लिए चंडीगढ़ पुलिस को केस भेज दिया है.  

आरोप है कि जजपा जिलाध्यक्ष ने युवती के साथ पहली बार साल 2017 में चंडीगढ़ के एमएलए हॉस्टल में दुष्कर्म किया और अश्लील फोटो खींच लिए. बाद में ब्लैकमेल करके कई बार उससे दुष्कर्म किया. युवती की शादी होने के बाद भी कई बार दुष्कर्म करने का आरोप है. 

लड़ चुके हैं विधानसभा चुनाव हरियाणा में भाजपा और जजपा गठबंधन की सरकार है. जजपा नेता दुष्यंत चौटाला हरियाणा सरकार में उप-मुख्यमंत्री हैं और रमेश गोदारा इन्हीं की पार्टी के हिसार के जिलाध्यक्ष हैं. गोदारा साल 2019 से जजपा टिकट पर आदमपुर विधानसभा से चुनाव लड़ चुके हैं, लेकिन जीत नहीं पाए थे.

‘4 साल से कर रहा था रेप’ पुलिस के सूत्रों से मिली जानकार, शिकायत में महिला ने बताया कि साल 2017 में जब वह बीमार थी तो रमेश गोदारा ने कालका के एक होम्योपैथी चिकित्सक के पास इलाज करवाने के बहाने उसको चंडीगढ़ बुलाया. जब वह चंडीगढ़ गई तो रमेश उसको एमएलएम हॉस्टल में ले गया और कहा, ‘अब शाम हो गई है. सुबह डॉक्टर के पास चलेंगे. इसके बाद खाना खाया तो हल्की-हल्की नींद आने लगी और वह लेट गई. इसके बाद आरोपी ने उसके साथ दुष्कर्म किया.’ 

‘शादीशुदी जिंदगी खराब हो गई’ शिकायत में कहा कि आरोपी की हरकतों के कारण उसकी शादीशुदी जिंदगी खराब हो गई. युवती की शिकायत पर महिला थाना पुलिस ने जीरो एफआईआर दर्ज कर जांच के लिए चंडीगढ़ पुलिस को भेज दी है. इस मामले के बारे में जजपा जिलाध्यक्ष रमेश गोदारा का पक्ष जानने के लिए उनसे कई बार संपर्क किया, परंतु उनका मोबाइल फोन स्विच ऑफ था.

जीरो एफआईआर दर्ज पीड़िता ने बताया कि सबसे पहले वह आदमपुर थाना गई तो वहां महिला पुलिस कर्मचारी ने कहा कि यहां अपराध नहीं हुआ है इसलिए मुकदमा दर्ज नहीं हो सकता. इसके बाद महिला थाने में गई तो वहां पर उसकी शिकायत ले ली और जीरो एफआईआर दर्ज कर ली. 

जान से मारने की धमकी महिला डीआईजी ने मुलाकात करने गई तो उसकी मुलाकात डीआईजी से नहीं हुई और वह अपनी शिकायत देकर वापस आ गई थी. पीड़िता का आरोप है कि आरोपी ने उसको कई बार जान से मारने की धमकी भी दी.

Share
Now