Sat. Sep 25th, 2021

Express News Live

ज़िद !! सच दिखने की

हज पर जाने वाले लोगों के लिए बड़ी खबर- सऊदी हुकूमत का ऐलान- जानिए….

  • सऊदी अरब ने कहा है कि कोरोना वायरस के चलते इस साल की हज यात्रा 60,000 लोंगों तक ही सीमित होगी और ये सभी स्थानीय होंगे।
  • यानी बाहर देश से किसी को भी इस साल हज का मौका नहीं मिल सकेगा। 
  • सऊदी अरब ने शनिवार को अपनी सरकारी सऊदी प्रेस एजेंसी में यह घोषणा की।
  • इस निर्णय के लिए हज और उमराह मंत्रालय का हवाला दिया है।

सऊदी अरब ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी के चलते इस साल 60 हजार से अधिक लोगों को हज की अनुमति नहीं होगी और वे सभी स्थानीय होंगे. सरकार द्वारा संचालित सऊदी प्रेस एजेंसी पर हज एवं उमरा मंत्रालय का हवाला देते हुए एक बयान में यह घोषणा की गई है.

बयान में कहा गया है कि इस साल हज जुलाई के मध्य में शुरू होगा. इसमें 18 से 65 साल की आयु के लोग हिस्सा ले सकेंगे. मंत्रालय ने कहा कि हज यात्रियों के लिये टीका लगवाना अनिवार्य है. बयान में कहा गया है, ‘सऊदी अरब इस बात की पुष्टि करता है कि उसने हाजियों के स्वास्थ्य व सुरक्षा और उनके देशों की सुरक्षा के बारे में निरंतर विचार-विमर्श के बाद यह फैसला लिया है.’

बता दें कि पिछले साल, सऊदी अरब में पहले से रह रहे लगभग एक हजार लोगों को ही हज के लिये चुना गया था। सामान्य हालातों में हर साल लगभग 20 लाख मुसलमान हज करते हैं। बयान में कहा गया है कि इस साल हज जुलाई के मध्य में शुरू होगा। इसमें 18 से 65 साल की आयु के लोग हिस्सा ले सकेंगे। मंत्रालय ने कहा कि हज यात्रियों के लिये टीका लगवाना अनिवार्य है। बयान में कहा गया है, ‘सऊदी अरब इस बात की पुष्टि करता है कि उसने हाजियों के स्वास्थ्य व सुरक्षा और उनके देशों की सुरक्षा के बारे में निरंतर विचार-विमर्श के बाद यह फैसला लिया है।’


बता दें कि हाल ही में कोरोना वायरस के बीच हज यात्रा को लेकर केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने शनिवार को कहा कि इसपर अभी तक केंद्र सरकार की ओर से कोई फैसला नहीं लिया गया है। नकवी ने 2021 की हज यात्रा को लेकर जारी असमंजस के बीच कहा कि इसके लिए सऊदी अरब जो फैसला करेगा भारत उस फैसले के साथ खड़ा रहेगा। नकवी ने कहा कि, हालांकि हमने अपनी पूरी तैयारियां कर ली हैं। हमने हज यात्रा के लिए लोगों से आवेदन भी ले लिए हैं। बता दें कि कोरोना महामारी के चलते पिछले साल हज यात्रा नहीं हो पाई थी।

मक्का में हज के लिए हर साल 20 लाख से अधिक लोग पहुंचते हैं, जिनमें कई विदेश से आते हैं। कोरोना वायरस के फैलने से पहले साल 2019 में लगभग 2 लाख भारतीय मुसलमानों ने हज किया था।

इधर, इंडोनेशिया ने भी एलान किया कि उनके देश के लोग इस साल भी कोरोना संक्रमण के चलते हज यात्रा में शामिल नहीं होंगे। बता दें कि इंडोनेशिया वो देश है, जहां से हर साल सबसे ज्यादा लोग हज करने के लिए सऊदी अरब जाया करते हैं। हालांकि कोरोना के चलते सरकार ने इस बार भी इस पर रोक लगा दी है।

Share
Now