July 7, 2022

Express News Bharat

ज़िद !! सच दिखने की

ENB Click to Join us!

PNB युवा महिला अधिकारी ने किया सुसाइड इस अधिकारी को बताया कारण …शादी में धोखा….

अयोध्या में पंजाब नेशनल बैंक के सर्कल आफिस में ऑफिसर पद पर तैनात श्रद्वा गुप्ता (30) ने फंदे से लटककर आत्महत्या कर ली। श्रद्धा के कमरे से पुलिस को मिले सुसाइड नोट में तीन लोगों के नाम शामिल हैं। सुसाइड नोट में लिखा गया है कि ‘पापा-मम्मी मेरे सुसाइड की वजह विवेक गुप्त, आशीष तिवारी (एसएसएफ हेड लखनऊ) और अनिल रावत (पुलिस फैजाबाद) ये तीन हैं। आई एम सॉरी फार दिस’।

अयोध्या के खवासपुरा निवासी विष्णु अग्रवाल के घर में बैंक ऑफिसर किराए पर रहती थीं। मूल रूप से लखनऊ के राजाजीपुरम की निवासी थीं। इनके पिता राजकुमार गुप्त कपड़े की दुकान करते हैं। मृतका रीडगंज स्थित पीएनबी के सर्कल आफिस में वर्ष 2017 से कार्यरत थीं। शुक्रवार की शाम से ही परिजनों ने इनके मोबाइल फोन पर कॉल किया, लेकिन रिसीव नहीं हुआ और न ही मोबाइल आनलाइन दिखा। शनिवार को परिजनों ने परेशान होकर मकान मालिक को फोन किया। मकान मालिक ने जब बैंक ऑफिसर के कमरे में खिड़की से देखा तो श्रद्धा का पैर लटकता नजर आया। इसकी मकान मालिक ने परिजन को सूचना देते हुए अप्रिय घटना की आशंका जताई। जब तक परिजन यहां पहुंचे तब तक मौके पर एसएसपी शैलेष कुमार पाण्डेय, नगर कोतवाल सुरश पाण्डेय व अन्य पुलिस कर्मी भी पहुंच गए। पुलिस ने परिजनों की मौजूदगी में कमरे का दरवाजा तोड़ा तो श्रद्धा का फंदे से शव लटक रहा था। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया।

बैंक ऑफिसर की आत्महत्या की वजह स्पष्ट नहीं हो सकी है, लेकिन पुलिस को मृतका के कमरे से एक सुसाइड नोट मिला है। इसमें मौत के लिए तीन लोगों को जिम्मेदार बताया जा रहा है। सुसाइड नोट में जिस विवेक गुप्त का नाम लिखा है बताया जा रहा है कि श्रद्धा की उससे शादी की बात चल चुकी थी, लेकिन रिश्ता नहीं हो पाया था। इसके अलावा दूसरा नाम नाम आशीष तिवारी एसएसएफ हेड लखनऊ और तीसरा नाम अनिल रावत जो फैजाबाद में पुलिस विभाग में है। फिलहाल अभी पुलिस आत्महत्या की तह तक नहीं पहुंच सकी है। इसलिए आत्महत्या के कारण से पर्दा नहीं उठ सका है। उम्मीद जताई जा रही है कि पुलिस जल्द ही सुसाइड नोट की जांच के आधार पर आत्महत्या की वजह से तस्वीर साफ कर देगी।

Share
Now