Thu. Jun 24th, 2021

Express News Live

ज़िद !! सच दिखने की

महामारी में पेट्रोल डीजल का मार-एक महीने में 4 रुपये से ज्यादा महंगा…

नई दिल्ली

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में तेजी का रुझान बना हुआ है। 4 मई के बाद से अब तक थोड़ा-थोड़ा करके फ्यूल रेट्स में 18 बार बढ़ोतरी हुई है। सरकारी ऑयल कंपनियों ने शुक्रवार (4 जून) को पेट्रोल के दाम में 27 पैसे प्रति लीटर और डीजल के दाम में 28 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की है। 4 मई के बाद से पेट्रोल 4.36 रुपये प्रति लीटर और डीजल 4.93 रुपये प्रति लीटर महंगा हो गया है। 


कई शहरों में 100 रुपये के पार पहुंचा पेट्रोल
हालिया बढ़ोतरी ने ऑटो फ्यूल के दाम को एक नए रिकॉर्ड पर पहुंचा दिया है। इस महीने कीमतों में तेजी की वजह से महाराष्ट्र, राजस्थान, आंध्र प्रदेश और मध्य प्रदेश के कई शहरों में पेट्रोल के दाम 100 रुपये प्रति लीटर के आंकड़े को पार कर गए हैं। मुंबई, रत्नागिरी, परभणी, औरंगाबाद, जैसलमेर, गंगानगर, बांसवाड़ा, इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, गुंटूर और काकीनाडा में एक लीटर पेट्रोल 100 रुपये के ऊपर बिक रहा है। शुक्रवार को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत बढ़कर 94.76 रुपये प्रति लीटर और डीजल के दाम 85.66 रुपये प्रति लीटर पर पहुंच गए। अगर मेट्रो शहरों की बात करें तो मुंबई में रेट सबसे ज्यादा रहे। फिलहाल, मुंबई में पेट्रोल 100.98 रुपये प्रति लीटर और डीजल 92.99 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। 


पेट्रोल और डीजल की ऊंची कीमतों की मुख्य वजह
दिल्ली में फ्यूल रेट्स देश भर के लिए बेंचमार्क हैं, लेकिन राज्यों और स्थानीय स्तर पर लगने वाले टैक्स में अंतर के कारण पेट्रोल और डीजल के रिटेल प्राइसेज अलग-अलग होते हैं। पंप्स पर पेट्रोल और डीजल के हाई रेट्स की 2 प्रमुख वजह इंटरनेशनल ऑयल रेट्स में उछाल और ऊंचा घरेलू टैक्स स्ट्रक्चर है। गुरुवार को इंटरनेशनल ऑयल प्राइसेज में थोड़ी नरमी आई थी, लेकिन पंप्स पर फ्यूल रेट्स में उछाल देखने को मिला था। इंडियन फ्यूल रिटेलर्स पिछले दिन के इंटरनेशनल बेंचमार्क रेट्स के हिसाब से पेट्रोल और डीजल के पंप प्राइसेज तय करते हैं। बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड के दाम गुरुवार को 0.06 फीसदी की नरमी के साथ 71.31 डॉलर प्रति बैरल पर रहे। शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में ब्रेंट क्रूड 0.15 फीसदी की गिरावट के साथ 71.20 डॉलर प्रति बैरल पर था। 


ऊंचे टैक्स की वजह से भी फ्यूल के पंप प्राइसेज ज्यादा हैं। 1 जून के ऑफिशियल डेटा के मुताबिक, दिल्ली में पेट्रोल के प्राइस में सेंट्रल लेवीज की हिस्सेदारी 34.8 फीसदी और स्टेट टैक्स 23.08 फीसदी हैं। वहीं, डीजल में सेंट्रल टैक्सेज 37.24 फीसदी से ज्यादा हैं, जबकि स्टेट टैक्स 14.64 फीसदी हैं।

Share
Now